न्यूज़

पत्रकारिता के नाम पर पैसों की उगाही की शिकायत ।

अकबरपुर इटौरा में फर्जी पत्रकारिता से व्यापारी व ग्रामीण त्रस्त ।

पत्रकारिता की आड़ में कुछ लोग इस लोक तंत्र के चौथे स्तम्ब की फजीहत कराने में लगे हुए हैं ।गाड़ी में मीडिया लिख कर अपने आप को अर्नव गोश्वामी और रवीश कुमार से भी बड़ा पत्रकार समझ कर दिन भर मोबाइल से वीडियो व फोटो निकाल कर लोगों को ब्लैकमेल करना व उगाही करने में लिप्त रहते हैं । मामला ग्राम अकबरपुर इटौरा का है ,जहां पत्रकारिता के नाम पर गुंडई और ठगई इन दिनों चरम पर है ।
ग्राम अकबरपुर इटौरा निवासी रमकांती पत्नी स्वर्गीय संजू ने बताया कि अस्पताल के पास उसका मकान निर्माण चल रहा था ,जिस पर लोगों की शिकायत के बाद पुलिस ने काम बंद करवा दिया ।दूसरे दिन ग्राम के ही समीर मंसूरी उर्फ सद्दाम तथा आजाद अहमद आये और बोले कि अस्पताल की जगह मे मकान बनाने की शिकायत मेरे भाई कल्लू मंसूरी ने की है ,जो हमने करवाई है ।तुम्हारे मकान का वीडियो हम लोगों ने बना लिया है ।अगर हमें 5000 रुपये दे दो तो हम उस वीडियो को अधिकारियों को नही दिखायेंगे ,नही तो हम अधिकारियों पर दबाब बना कर तुम्हारा मकान गिरवा देंगे ।इसी तरह मुन्नी देवी पत्नी राम लखन ने भी पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर उक्त दोनों लोगों पर आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे मकान का वीडियो बनाने समीर मंसूरी व आजाद अहमद आये थे ,और रुपये की मांग करते हुए बोले कि हमने तुम्हारा मकान एसडीएम को दिखा दिया है ,मकान खाद के गड्ढों की जगह में हैं ,मकान बनते हुए का वीडियो हमारे पास है ।हम पत्रकार हैं और महिला सुरक्षा संघटन के जिला अध्यक्ष है ।तुम्हारा मकान गिरने से बचा देंगे ।नही तो एक हफ्ते में मकान गिरवा देंगे और मां -बहिन गंदी-गंदी गालियां देने लगे। बता दें कि उक्त समीर मंसूरी व आजाद अहमद इसी तरह की वसूली में ग्राम अकबरपुर इटौरा तथा आस-पास के क्षेत्र में सक्रिय रहते हैं ।ग्राम प्रधान ,कोटेदार ,गल्ला व्यापारी ,मौरंग ट्रेक्टर चालक ,ईंटा भाड़ा करने वाले ट्रेक्टर ,बिवादित निर्माण कार्य आदि जैसे कार्य या व्यक्ति इनके टारगेट में रहते हैं ।कुछ दिन पूर्व एक कबाड़ व्यापारी बजीर पुत्र जाकिर ने भी शिकायत की थी कि यही दो लोग शराब पीकर आये और धमकी दी कि मेरे चाचा और भाई कबाड़ का काम करते हैं ,तुम यह काम बंद कर दो ,या फिर हमें बिना लागत के पच्चीस प्रतिशत का पार्टनर करो ,नही तो किसी दिन चोरी की गाड़ी रखवा कर फ़सवा देंगे ,हम पत्रकार हैं ।विदित हो कि यही लोग इस समय ग्राम प्रधान अमित इतिहास से भी दिवाली खर्च के रूप में दस हजार रुपये की मांग कर रहे थे ,जिसे न देने पर बीते एक हफ्ते से तथ्य विहीन व फर्जी खबरें डाल कर सरकारी जमीन बेंच देने ,कब्जा कर लेने जैसे समाचार सोशल मीडिया में डाल कर दबाब बनाने की कोशिश कर रहे हैं । पत्रकारिता जैसे कार्य को अवैध उगाही का धंधा बनाने वाले यह यह आजाद अहमद और समीर मंसूरी शाम होते मेडिकल स्टोर वालों से मुफ्त में अपने नशे के लिए कोई सीरफ मांगते है ,जिससे मेडिकल वाले भी त्रस्त हैं ।इस सम्बंध में जब चौकी प्रभारी इटौरा से बात की गई तो उनका कहना कि उक्त लोगों के विरुद्ध ऐसी हरकतों की लिखित व मौखिक कई शिकायतें मिली है ,जांच कराई जाएगी ।जो भी दोषी होगा उसके विरुद्ध कारवाही की जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *